The yellowजीवन में प्रेम एक बहुत बड़ी अनुभूति है पर जीवन के अन्य तत्वों या अनुभूतियों की तरह प्रेम में भी सब कुछ स्थायी नहीं होता और इसमें भी उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। एक कला जो नहीं बदलती वह खुद प्रेम है। एक बार होने के बाद यह जाता नहीं। यह सुप्तावस्था में पड़ा रह सकता है। प्रेमियों के मध्य नापसंदगी पनप सकती है। जीवन के प्रैक्टीकल पहलू विवश कर सकते हैं एक-दूसरे से दूर रहने को पर कभी प्रेमियों के मध्य पनपा प्रेम मरता नहीं, यह सिर उठाता है बार-बार। जीवन की वर्तमान वास्तविकताओं को देखते हुये बाहर से प्रेमी फिर से साथ होने की बात भले ही स्वीकार न करें, या उस भावना को गहरी होने से रोकने का प्रयास करें पर उनके अंदर प्रेम बार-बार जीवित होता रहता है।

प्रेम में ’हाँ’ या ’ना’ स्थायी कलायें नहीं हैं और उनमें परिवर्तन होते रहते हैं। प्रेम में कभी तो साधारण शब्द बड़े महत्वपूर्ण बन जाते हैं कभी भावनाओं के वशीभूत होकर कहे शब्द बाद में अतिशयोक्तिपूर्ण बन कर झूठे लगने लगते हैं। कहने वाला अचरज करता है कि क्या उसी ने ये सब शब्द कहे थे और सुनने वाला क्रोध और कुछ हद तक नफरत से भर सोचता है और कहता है कि तब तो तुमने ऐसा कहा था।

प्रेम एक बार आ जाये जीवन में तो यह कभी न खत्म होने वाली प्रक्रिया है। अलगाव और भौतिक दूरियाँ आदि मानव के अंदुरनी संसार में मायने नहीं रखते।

प्रेम के कुछ पहलुओं को सामने लाती है – The Yellow Handkerchief जो कि My Son the Fanatic (1997) से ज्यादा चर्चित हुये भारतीय मूल के निर्देशक Udayan Prasad द्वारा निर्देशित फिल्म है।

एक निर्माता के तौर पर छह बार अपने द्वारा निर्मित डॉक्यूमेंटरीज के लिये ऑस्कर जीत चुके Arthur Cohn ने The Yellow Handkerchief को निर्मित किया अपने चार मित्रों के निजी आर्थिक सहयोग से। ये लोग ऐसी फिल्म को आर्थिक सहयोग देना चाहते थे जो कि जघन्यता, हिंसा, और सैक्स आदि तत्वों के समावेश न होने के बावजूद बने।

Pete Hamill की कहानी पर आधारित फिल्म में दो प्रेम कहानियाँ साथ-साथ चलती है। एक प्रेम कहानी है जो भूत काल में शुरु हुयी थी और अब जेल में छह साल की सजा काट कर बाहर आये Brett Hanson (William Hurt) के ज़हन में चलती रहती है, अपनी प्रेमिका और पत्नी May (Maria Bello) से जुड़ी यादों के द्वारा। और दूसरी प्रेम-कथा संबंधित है किशोरावस्था में भ्रमित जीवन जी रहे Martine (Kristen Stewart) और Gordy (Eddie Redmayne) से।

Brett, Martine और Gordy तीनों ही असामान्य किस्म के चरित्र लगते हैं और सड़क पर तीनों का मिलना होता है और संयोग तीनों को Gordy की कार में आगे यात्रा करने के लिये इकटठा कर देता है।

Brett, Martine और Gordy तीनों ही असामान्य किस्म के चरित्र लगते हैं और सड़क पर तीनों का मिलना होता है और संयोग तीनों को Gordy की कार में आगे यात्रा करने के लिये इकटठा कर देता है। तीनों चरित्रों की असामन्यताओं के पीछे उनके बीते जीवन के सामाजिक पहलू हैं। तीनों ही अपने अपने जीवन के भूतकाल से भागने वाले व्यक्तित्व हैं। तीनों को ही अपने जीवन के अब तक के इतिहास का अपने जीवन के वर्तमान को प्रभावित करना खलता है और तीनों के आत्मविश्वास में कमी के सबब भी उनके अब तक बीते जीवन के भूतकाल हैं।

पहले आपस में अपरिचित रहे तीनों चरित्रों के जीवन, साथ में समय गुजारने के कारण, उनके न चाहते हुये भी, आपस में संबंधित होने लगते हैं। तीनों के जीवन की पहेलियाँ उनके सामने एक-एक करके सामने आने लगती हैं। तीनों की कमियाँ और उनके गुण एक-दूसरे पर जाहिर होने लगते हैं। आपसी पसंदगी और नापसंदगी के दौर चलते रहते हैं।

जीवन की कठिनाइयों से अपने-अपने स्तर पर जूझ रहे तीनों चरित्र न केवल अपने वजूद को तलाश रहे हैं बल्कि अपने जीवन में कुछ अर्थ लाने का प्रयास भी कर रहे हैं।

आपस में बनते संबंधों में और फिल्म में एक नया मोड़ आता है जब अब तक इस बात से अंजान रहे Martine और Gordy को बीच यात्रा में पता चलता है कि उनका साथी Brett असल में जेल से छह साल की सजा काट कर आया है एक व्यक्त्ति को मारने के जुर्म में। यह रहस्योदघाटन उनके संबंधों को परखता है। अब उन्हे ऊपरी सतह से नीचे जाकर Brett के चरित्र और उसके साथ अपने संबंधों को जाँचना है।

अनुभवी Brett ही Martine और Gordy को संबंधों के बारे में नहीं सिखाता बल्कि इस यात्रा के दौरान उनके संबंधों में आये उतार-चढ़ावों और उनसे उपजे अनुभव से Martine और Gordy भी Brett को बहुत कुछ सिखाते हैं जो कि उसके व्यक्तित्व के लिये अब तक अंजाने पहलू रहे हैं। यह फिल्म की एक विशेषता भी है कि भूत काल में पनपी प्रेमकथा और वर्तमान में पनप सकने वाली प्रेमकथा आपस में जुड़ जाती हैं और जीवन और प्रेम के नये सूत्र आकार लेने लगते हैं।

Brett ने अपने जिस प्रेम का अंत स्वयं ही लिख दिया था अब उसे क्षीण सी आशा है कि काश वह जीवन में वापिस आ जाये। Gordy को आशा है कि Martine उसके प्रेम को अंततः स्वीकार कर लेगी। इन आशाओं के मध्य आड़े आते हैं उनके व्यक्त्तित्व की कमजोरियाँ और इन कमजोरियों से उपजी उनके दिल और दिमाग की उलझनें।

मुख्य बात यह है कि ये चरित्र अपने आप को ही स्वीकार करते तो उनके अंदर यह भाव उत्पन्न होना स्वाभाविक ही है कि उनके प्रेम को उनकी प्रेमिकायें स्वीकार शायद न करें।

Brett का केस थोड़ा जटिल है, क्योंकि उसे छह साल से पता नहीं है कि May क्या वहीं रहती है जहाँ पहले वे रहते थे, क्या वह अकेली है, उसकी राह देखती है या किसी और के साथ उसने घर बसा लिया है। Gordy का भी एक पूरा अतीत है जिसके बारे में वह स्वयं कहता है कि लोग कहते हैं कि वह उन्हे असामान्य महसूस करवाता रहा है और लोग उसके कारण गुस्सा हो जाते हैं, उसे नज़र अंदाज़ करने लगते हैं।

रोचक है यह देखना कि Brett नावों आदि की मरम्मत कर सकता है, और भी कई चीजें दुरुस्त कर सकता है पर वह अपनी ज़िंदगी की टूट-फूट की मरम्मत कर पाने में अपने को असमर्थ बल्कि असफल पाता है। वह खुद May से निराशा में कहता है कि उसने ज़िंदगी में कभी कोई महत्वपूर्ण निर्णय नहीं लिया। May कहती है कि उसने एक बड़ा महत्वपूर्ण कदम गलत दिशा में उठा दिया।

Gordy अपने बारे में कहता है कि वह उन Computers को ठीक कर सकता है जिन्हे और कोई नहीं कर सकता। वह भी मरम्मत विशेषज्ञ है पर अपने जीवन की दिशा और दशा को समझ और सुलझा पाने में असमर्थ है।

Brett और Gordy को अपने अंदर जागे प्रेम की स्वीकार्यता देखनी है। Martine, Brett और May की प्रेमकथा जानने के बाद प्रेम को कुछ कुछ समझने लगी है और अपने आप को भी थोड़ा स्पष्ट तरीके से जानने लगी है।

अंत तक आते-आते भूत और वर्तमान के बीच आती-जाती हुयी फिल्म महज एक रोड-फिल्म न रहकर भावनाओं की गहराइयों की तरफ गोते लगाने लगती है और एक ठोस प्रेम-कथा बनने लगती है।

क्या Brett और Gordy को उनके प्रेम मिल पायेंगे? Brett के बीते जीवन का प्रेम – May, क्या उसके जीवन में वापिस आ पायेगी?> अब तक केवल यादों के सहारे फ्लैश-बैक में दिखायी जा रही May क्या फिल्म के वर्तमान का हिस्सा बन पायेगी?

एक वयस्क प्रेमकहानी जो कुछ साल पहले अस्तित्व में थी, वर्तमान में फिर से आकार लेकर भविष्य की संभावना जगा पायेगी?
एक किशोर प्रेमकहानी जो वर्तमान में थोड़ा-थोड़ा आकार ले रही है, क्या भविष्य में सुदृढ़ हो पायेगी?

वयस्क प्रेमियों के चरित्रों में William Hurt और Maria Bello और किशोर प्रेमियों के चरित्रों में Kristen Stewart और Eddie Redmayne, फिल्म को अपने अच्छे अभिनय द्वारा विश्वसनीय बनाते हैं। अपनी सोच द्वारा अपने जीवन को नष्ट करने वाले चरित्र के रुप में William Hurt का अभिनय बेहद आकर्षक है।

सिनेमेटोग्राफी, एडिटिंग और बैक-ग्राउण्ड म्यूजिक जैसे क्षेत्रों में फिल्म बेहतर प्रदर्शन करती है।

प्रेम-कथाओं पर आधारित अच्छी फिल्में तलाश करने वाले दर्शकों को फिल्म आकर्षक लगेगी।

The Yellow Handkerchief को 2008 Sundance Film Festival में प्रदर्शित किया गया था और बाद में 2010 में Samuel Goldwyn Films ने इसे प्रदर्शित किया। अब यह फिल्म DVD पर उपलब्ध है।

…[राकेश]

Advertisements